11/7/2019 11:19:04 PM

शिवसेना का बीजेपी पर नया तंज, 'बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन क्यों एक महीने का समय लीजिए'

महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल खत्म होने में महज एक दिन बाकी है, लेकिन बीजेपी और शिवसेना सरकार बनाने के करीब नहीं दिख रही हैं।

इस बीच शिवसेना ने बीजेपी को नई चुनौती दी है। शिव सेना सांसद संजय राउत ने शुक्रवार को कहा कि सबसे बड़ी पार्टी होने के नेता बीजेपी को सरकार बनानी चाहिए और बहुमत साबित करने के लिए '15 दिन नहीं बल्कि एक महीने' का समय लेना चाहिए।

बहुमत के लिए 15 दिन नहीं एक महीने का समय ले बीजेपी: राउत

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक संजय राउत ने कहा कि बीजेपी को सरकार बनाने का दावा पेश करना चाहिए और अपना बहुमत साबित करना चाहिए।

राउत ने कहा, 'सबसे बड़ी पार्टी को पहले सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए और वह बीजेपी है। उन्हें विधानसभा में अपना बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन नहीं बल्कि एक महीने का समय मिलना चाहिए।'

ये पूछे जाने पर कि क्या शिवसेना के पास कोई विकल्प है और क्या उसने बीजेपी से अलग होने का फैसला कर लिया है? के सवाल पर राउत ने कहा, अगर राज्यपाल सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने के लिए बुलाते हैं और मुख्यमंत्री शपथ लेते हैं, तो उन्हें सदन में अपना बहुमत साबित करना होगा। अगर वे असफल रहते हैं तभी दूसरे सरकार बना सकते हैं। शिवसेना भी बना सकती है। लेकिन ये उचित है कि सबसे बड़ी पार्टी को पहले मौका मिले।

जब 50: 50 समझौता हो चुका है, तो नया प्रस्ताव क्यों: राउत

बीजेपी के साथ जिस 50: 50 डील को लेकर सारा गतिरोध है उसके बारे में राउत ने कहा, 'हम 24 अक्टूबर की शाम को, नतीजों के बाद चर्चा की उम्मीद कर रहे थे। नए प्रस्ताव का सवाल कहा हैं, जब आम चुनावों से पहले हमारे बीच 50: 50 सत्ता साझा करने का समझौता हो चुका था? अचानक, ही बीजेपी ने उस फॉर्मूले को खारिज कर दिया और कहा कि ऐसी कोई चर्चा नहीं हुई थी। अगर एक बीजेपी नेता, और वह भी सीएम पद का व्यक्ति, ऐसी भाषा का प्रयोग करता है, तो हम इसे कैसे स्वीकार कर सकते हैं।'

बीजेपी ने गुरुवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की थी और कहा था कि उसने सरकार गठन में हो रही देरी के कानूनी पहलुओं पर चर्चा की।

बीजेपी-शिवसेना के बीच 50: 50 डील पर फंसा है पेंच

महाराष्ट्र में सरकार बनाने की डेडलाइन शनिवार (9 नवंबर) तक ही है, क्योंकि वर्तमान विधानसभा का कार्यकाल इसी दिन समाप्त हो रहा है। लेकिन 24 अक्टूबर को आए नतीजों के 15 दिन बाद भी सीएम पद को लेकर बीजेपी-शिवसेना के बीच तल्खी कायम है। 
शिवसेना ने 50: 50 डील के तहत ढाई-ढाई साल सीएम पद की मांग पर अड़ी हुई है और बीजेपी इसे मानने को तैयार नहीं है। शिवसेना ने अपनी पार्टी को टूट से बचाने के लिए गुरुवार को ही अपने विधायकों को मुंबई स्थित एक होटल में शिफ्ट कर दिया है।

24 अक्टूबर को आए महाराष्ट्र विधानसभा की 288 सीटों के नतीजों में बीजेपी ने 105, शिवसेना ने 56, एनसीपी ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटें जीती थीं।