1/10/2019 2:38:32 PM

शिवसेना ने पूछा - आरक्षण तो दिया, नौकरियां कहां से लाओगे ?

पॉलिटिकल डेस्क। सवर्ण गरीबों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने को संसद से मंजूरी मिल गई हैं। जिसके बाद शिवसेना ने गुरुवार को आश्चर्य जताया और कहा कि, आरक्षण तो दे दिया लेकिन नौकरियां कहाँ से लाओगे। शिवसेना ने अपने बयान में स्पष्ट किया कि, यदि आरक्षण बीजेपी की सिर्फ चुनावी चाल हैं तो यह उसके लिए काफी महँगी साबित होगी। शिवसेना ने कहा कि, मराठा समुदाय को भी महाराष्ट्र में आरक्षण मिला हैं लेकिन नौकरियां कहां से आएंगी। 

सेना ने गिरफ्तार किया जासूस कुम्हार

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के एक संपादकीय कॉलम में लिखा कि, जब सत्ता में बैठे लोग रोजगार और गरीबी दोनों मोर्चो पर विफल हो जाते हैं तो वे आरक्षण का सहारा लेते हैं। कॉलम में सवाल के लहजे में पूछा गया हैं कि, यदि आरक्षण का यह निर्णय सिर्फ वोट पाने के लिए लिया गया हैं तो यह काफी महंगा साबित होगा। लेख में आगे लिखा कि, 10 प्रतिशत आरक्षण के बाद रोजगार का क्या होगा और नौकरी कहां से मिलेगी।

बुजुर्ग के भेष में 36 साल की महिला ने किये सबरीमाला में दर्शन