Wednesday : 24-10-18 04:19:46 AM
English Hindi

बीएसएनल के कर्मियों को रिटायर्ड करना भुला विभाग, अब होगी जाँच 

बीएसएनल के कर्मियों को रिटायर्ड करना भुला विभाग, अब होगी जाँच 
Thursday, October 4, 2018 - 15:13
13

नई दिल्ली: बीएसएनएल में अजीब किस्सा सामने आया है। बीएसएनल अपने ही एक कर्मी को रिटायर करना  भूल गया। अब जब उसे होश आया तो उसे रिटायरमेंट का पत्र थमा दिया गया है और उस कर्मी से 13 लाख की रिकवरी का दबाव बनाया जा रहा है जबकि  रिटायर कर्मी विधिक राय ले रहा है। वहीं, बीएसएनएल के महाप्रबंधक ने पूरे प्रकरण की जांच की बात कही है। 

बीएसएनल हरिद्वार में लाइनमैन मदन पाल सिंह काफी सालों से कार्य कर रहे हैं । उनकी रिटायरमेंट करीब 2 साल पहले होनी थी लेकिन विभागीय लापरवाही की वजह सेल वे रिटायर नहीं हुए। अब जब विभाग को इस बात की खबर लगी तो अधिकारियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में  लाइनमैन मदन को रिटायरमेंट का पत्र थमाया गया  और साथ ही अधिकारियों और एकाउंट टीम ने अतिरिक्त 2 साल के  वेतन भुगतान का  13 लाख रुपया रिकवरी के तौर पर निकाल दिया है। 

मदन लाल को  बार-बार अधिकारी फोन कर रिकवरी जमा करने की बात कह रहे हैं  जबकि रिटायर हुए मदन लाल का कहना है कि उसने अपनी पूरी सेवा दी। इसमें उसकी क्या गलती। ये मामला बेहद पेचीदा हो गया है। एक ओर रिटायर लाइनमैन मदनलाल  विधिक राय ले रहा हैं तो दूसरी ओर विभागीय अधिकारी भी कहां चूक हुई इस गलती को ढूंढ रहे हैं । विभाग के महाप्रबंधक अखिलेश कुमार ने बताया कि  मामला गंभीर है और इसकी जांच के आदेश दे दिए गए हैं। अब जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि किस स्तर पर गलती हुई है। 

28 सितंबर को थमाया रिटायरमेंट पत्र
हरिद्वार: बीएसएनएल में  लाइनमैन के पद पर काम करने वाले मदनलाल को  28 सितंबर के  शाम को  रिटायरमेंट का पत्र थमाया गया। जिसे वह  देख कर वे हैरानी रह गए। जब उन्होंने इसकी जानकारी लेनी चाही तो पता चला कि वह तो 2 साल पहले ही नियमानुसार रिटायर हो गए थे। उनका कहना है कि वह पूरे समय तक काम करते रहे इसलिए रिकवरी कैसा। वैसे भी उनके पास इतना पैसा नही है। कि वह तेरा लाख की रिकवरी दे सके। आईकार्ड भी 31 सितंबर 2018 तक का जारी किया गया था।

और पढ़ें

Add new comment