Wednesday : 24-10-18 03:59:47 AM
English Hindi

अमर-अकबर-अन्थोनी की टूटी जोड़ी

अमर-अकबर-अन्थोनी की टूटी जोड़ी
Friday, September 28, 2018 - 12:48
59

1999 में सोनिया गांधी के विदेशी मूल के मु्द्दे पर कांग्रेस से बगवात कर शरद पवार के साथ मिलकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी  (एनसीपी) की नींव रखने वाले तारिक अनवर ने पार्टी को अलविदा कह दिया है. अनवर ने एनसीपी छोड़ने के साथ-साथ लोकसभा सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया है.

तारिक अनवर ने इस्तीफा देने की बात को स्वीकारा और कहा, 'मैंने एनसीपी छोड़ दी है और लोकसभा सदस्य पद से भी इस्तीफा दे दिया है।सूत्रों के अनुसार तारिक अनवर घर वापसी करते हुए कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।हालांकि अनवर ने कहा कि वे अपने समर्थकों से बात करके ही फैसला लेंगे।गौरतलब है कि तारिक अनवर ने 2014 लोकसभा चुनावों में मोदी लहर होने के बावजूद बिहार के कटिहार से जीत हासिल की थी और इसके इलावा उनकी पहचान सभी जाति एवं धर्मो में सर्वमान्य नेता की है।

ऐसे में अनवर अगर कांग्रेस में वापिस आते हैं तो बिहार में न केवल उन्हें बड़ी जिम्मेवारी मिल सकती है बल्कि वे कांग्रेस को भी बिहार में अच्छा खासा फायदा दिला सकते हैं।अपने इस्तीफे की वजह का खुलासा करते हुए तारिक अनवर ने रॉफेल मुद्दे पर एनसीपी का आक्रमक रूख न होना व बीती रात शरद पवार के बयान  को बताया,हालांकि उक्त बयान  का एनसीपी ने खंडन करते हुए इसे भाजपा का जनता को गुमराह करने वाला शरारतपूर्ण कृत्य बता दिया था,परन्तु अनवर के अनुसार तब तक देर हो चुकी थी।लेकिन सूत्रों के अनुसार तारिक अनवर एनसीपी छोड़ने और कांग्रेस में शामिल होने का मन पहले ही बना चुके थे और वे सिर्फ एक मौके का इंतजार कर रहे थे,जो मिलते ही उन्होंने अपने पत्ते खोल दिए।खैर अब देखना यह है कि तारिक अनवर कांग्रेस में कब शामिल होते हैं?

और पढ़ें

Add new comment