आधे राजस्थान में इन दिनों तारीख पर तारीख, तारीख पर तारीख, तारीख पर तारीख चल रही हैं, यह है कारण

आधे राजस्थान में इन दिनों तारीख पर तारीख, तारीख पर तारीख, तारीख पर तारीख चल रही हैं, यह है कारण
Published Date:
Tuesday, May 29, 2018 - 15:54

जयपुर। राजस्थान हाईकोर्ट की एक बेंच को उदयपुर में खोलने पर विचार हो ही रहा था कि हाईकोर्ट के वकील नाराज हो गए। अब इसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है। हाईकोर्ट का कामकाज ठप्प होने की वजह से लोगों को तारीख पर तारीख मिल रही है।

दरअसल जोधपुर और जयपुर हाईकोर्ट के वकील नहीं चाहते हैं कि हाईकोर्ट की कोई बेंच खुले। अगर तीसरी बेंच खुल गई तो इन वकीलों के पास लोगों की संख्या में कमी आ जाएगी।
जिस वजह से 9 दिन से जयपुर और जोधपुर हाईकोर्ट के वकील हड़ताल पर हैं। वहीं उदयपुर के वकील लगातार हाईकोर्ट की बेंच की मांग पर अड़े हैं। जिस वजह से वहां एक महीने से क्रमिक अनशन जारी है।

वहीं हरियाणा के कुछ वकीलों के साथ भिवाड़ी पुलिस ने दुर्व्यवहार किया था। जिस पर हरियाणा के वकीलों ने भिवाड़ी और अलवर के वकीलों से समर्थन मांगा था। इस पर अलवर बार संघ के पदाधिकारी एसपी से भी मिले थे। जब मामले में पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई तो अलवर के वकील हड़ताल पर चले गए। जिस वजह से वहां भी कोर्ट का कामकाज ठप्प है। ऐसे में देखा जाए तो इन दिनों राजस्थान की जनता को इंसाफ की जगह सिर्फ तारीख पर तारीख मिल रही है।

कहां तक पहुंचा हाईकोर्ट की बेंच का मामला?

अधिवक्ता सुनील समदडिया की ओर से एक याचिका दायर की गई थी। इस याचिका में कहा गया है कि बेंच खोलने को लेकर मुख्य न्यायाधीश को अधिकार प्राप्त है। नियमों में प्रावधान है कि शुरूआत में मुख्य न्यायाधीश प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेजेंगे।

जिस पर राज्य सरकार आगामी कार्रवाई करेगी। याचिका में कहा गया कि राज्य सरकार ने अपनी तरफ से कमेटी गठित कर दी है। जिस पर सरकार का कोई अधिकार ही नहीं है। मुख्य न्यायाधीश पूर्व में तीन बार अलग बेंच गठन को लेकर अपनी असहमति जता चुके हैं।

ऐसे में राज्य सरकार की ओर से गठित कमेटी को अवैध घोषित करते हुए रद्द किया जाए। साथ ही अब इस मामले की सुनवाई बुधवार को हाईकोर्ट की दूसरी खंडपीठ करेगी।