ट्रेन में बेटिकट यात्री सावधान, अब तीन गुना बढ़ने वाली है जुर्माने की राशि

ट्रेन में बेटिकट यात्री सावधान, अब तीन गुना बढ़ने वाली है जुर्माने की राशि
Published Date:
Monday, July 2, 2018 - 09:54

भारतीय रेलवे में बेटिकट यात्रा एक गंभीर समस्या बना हुआ है। हजारों लोग रोज भारतीय रेल में बिना टिकट यात्रा करते हैं। इससे रेलवे को सालाना करोड़ो की राजस्व हानि हो रही है। रेल प्रशासन अब इस समस्या से निजात पाने की तैयारी कर ली है। रेलवे में बेटिकट यात्रा करने वाले यात्रियों को अब अपनी जेब ज्यादा ढीली करनी पड़ेगी।

तीन गुना बढ़ जाएगी जुर्माने की राशि

रेलवे बेटिकट यात्रियों के लिए जुर्माने की राशि को बढ़ाकर 1 हजार रुपये तक करने जा रहा है। जानकारी के मुताबिक, पश्चिम रेलवे ने ये कदम उठाने के लिए सुझाव दिया है। बता दें कि वर्तमान में बेटिकट यात्रियों से 250 रुपये की जुुर्माने की राशि वसूली जाती है लेकिन अगर नया नियम लागू कर दिया गया तो जुर्माने की राशि तीन गुना तक बढ़ जाएगी। अभी रेलवे फर्स्ट और सेंकंड क्लास के डिब्बों में बेटिकट यात्रियों से 250 रुपए जुर्माना लिया जाता है। बताया जा रहा है कि इस पर अभी पूर्ण रूप से फैसला नहीं लिया गया है, ये मामला अभी रेलवे बोर्ड के सामने है। इस पर वही फैसला लेगा।

2002 के पहले 50 रुपया था जुर्माना

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 2002 के पहले बेटिकट यात्रा पर सिर्फ 50 रुपये पेनल्टी लगती थी। लेकिन सरकार ने 2002 में इसे बढ़ाकर 250 रुपये कर दिया। तब से रेलवे में बेटिकट यात्रा करने वालों से 250 रुपए ही वसूले जा रहे थे। पश्चिम रेलवे के एक अधिकारी ने कहा कि 'रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी के हालिया मुंबई दौरे के दौरान जुर्माने की रकम बढ़ाने का प्रस्ताव रखा था।'

इसलिए नहीं लेते हैं टिकट

जानकारी के मुताबिक, सिर्फ अप्रैल में ही रेलवे नें 3.94 लाख बेटिकट यात्रियों के खिलाफ केस बनाया। इस दौरान रेलवे ने इन यात्रियों से 15.34 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला। रेलवे समय-समय पर इनको पकड़ने के लिए अभियान भी चलाता रहता है। अधिकारी के बयान के मुताबिक आज की महंगाई के अनुसार ही जुर्माने की रकम होनी चाहिए। कई लोग इसलिए भी टिकट नहीं लेते कि पेनल्टी की रकम मंथली पास के बराबर ही है।

इन पर भी जुर्माने की मांग

सेंट्रल रेलवे हर दिन 3000 बेटिकट यात्रियों को पकड़कर 15 लाख रुपए और और पश्चिम रेलवे 1,300 बेटिकट लोगों को पकड़ कर 5 लाख रुपये जुर्माना वसूलता है। जुर्माने की रकम से पश्चिम रेलवे को 5 करोड़ और सेंट्रल रेलवे 7 करोड़ अाय होती है। बताया जा रहा है कि, अधिकारियों ने टीसी और स्टेशन मास्टर को ट्रैक क्रॉस करने वालों और गलत डिब्बों में यात्रा करने वालों पर भी जुर्माना लगाने की मांग की है।