अगर ट्रेन हुई लेट तो यात्रियों के लिए, फ्री में खाने-पीने की व्यवस्था करेगा रेलवे

अगर ट्रेन हुई लेट तो यात्रियों के लिए, फ्री में खाने-पीने की व्यवस्था करेगा रेलवे
Published Date:
Wednesday, June 20, 2018 - 00:04

नई दिल्ली

ट्रेन लेट होने पर रेलवे फ्री में यात्रियों के खाने-पीने की व्यवस्था करेगा। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बात की जानकारी दी। हालांकि फ्री खाने की सुविधा मेगा ब्लॉक की वजह से ट्रेन लेट होने पर ही मिलेगी, साथ ही अगर मेगा ब्लॉक के दौरान यदि खाने का वक्त यानी लंच या डिनर का समय होता है तभी यह सुविधा यात्रियों को दी जाएगी। खाने-पीने की व्यवस्था आईआरसीटीसी को करनी होगी। मरम्मत कार्यों की वजह से ट्रेनों के लेट होने से यात्रियों को हो रही परेशानी पर पूछे गए एक सवाल के बाद रेल मंत्री ने यह जानकारी दी।
गोयल ने पत्रकारों को बताया कि चूंकि मेगा ब्लॉक केवल रविवार को किए जाएंगे, इसलिए फ्री खाने की सुविधा रविवार को मेगा ब्लॉक की वजह से ट्रेन लेट होने पर ही मिलेगी। फिलहाल रिजर्व कैटिगरी के यात्रियों को ही यह सुविधा दी जाएगी, अनारक्षित श्रेणी के यात्रियों को यह सुविधा देने के बारे में रेल मंत्री का कहना है कि इसपर भी विचार किया जाएगा, लेकिन अनारक्षित श्रेणी में यात्रियों की वास्तविक संख्या का पता लगाने में थोड़ी परेशानी होगी।

रेल मंत्री की ताजा घोषणा को आप यूं समझ सकते हैं, मान लें कि रविवार को सुबह 10 बजे से दोपहर 3 बजे तक मेगा ब्लॉक की वजह से ट्रेन किसी स्टेशन पर खड़ी रहती है। अब चूंकि इस अवधि में यात्रियों के लंच का वक्त भी शामिल होगा तो आईआरसीटीसी को अपनी तरफ से यात्रियों के लिए लंच और पीने के पानी की व्यवस्था करनी होगी। रेलवे की योजना अब मरम्मत के लिए ब्लॉकिंग के कार्य को पहले से प्लान करके करने की है, इससे यात्रियों को पहले ही इस बात की जानकारी रहेगी, साथ ही आईआरसीटीसी को यात्रियों के लिए खाने-पीने की व्यवस्था करने में आसानी होगी। रेल मंत्री ने कहा कि उनका जोर ट्रेनों को तय समय से चलाने और स्वच्छता पर है, जिससे कि यात्रियों की परेशानी को कम किया जा सके। इलाहाबाद-मुगलसराय के बीच तीसरी लाइन बनाने के प्लान पर गोयल ने कहा कि इस रूट के ट्रैक पर दबाव 200 फीसदी से भी ज्यादा है, इसलिए तीसरे ट्रैक का निर्माण जरूरी है। रेल मंत्रालय के अनुसार तीसरे ट्रैक को बनाने में लगभग 2000 करोड़ रुपये की लागत आएगी।