Sunday : 23-09-18 02:27:25 PM
English Hindi

राजस्थान रोडवेज के श्रमिक संगठनों ने अर्धनग्न प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया

राजस्थान रोडवेज के श्रमिक संगठनों ने अर्धनग्न प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया
राजीव श्रीवास्तव
Thursday, September 13, 2018 - 12:23
47

अलवर  : राजस्थान रोडवेज के श्रमिक संगठनों का संयुक्त मोर्चा के आव्हान पर समझौते को लागू करने की मांग को लेकर अर्धनग्न प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। मोर्चे के आव्हान पर सैकड़ों  सेवारत व सेवानिवृत्त कर्मचारी अलवर बस स्टैंड पर एकत्रित और अर्धनग्न प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के पुतले की शव यात्रा नारेबाजी के साथ  बस स्टैंड पर निकाली और  बस स्टैंड परिसर में मुख्यमंत्री का पुतला जलाया गया ।रोडवेज कर्मचारियों को संबोधित करते हुए हरिओम चुघ ने बताया कि 5 माह के लंबे संघर्ष के बाद 27 जुलाई 2018 को परिवहन मंत्री व संयुक्त मोर्चा के मध्य समझौता हुआ |

जिसके तहत रिटायरमेंट कर्मचारियों के भुगतान के लिए 150 करोड़ रुपए देने 8000 रिक्त पदों को भरने का समझौता हुआ साथ ही रोडवेज कर्मचारियों के सातवें वेतन के अनुसार वेतन-भत्तों व नई बसों के संदर्भ में कमेटी गठित की ।कमेटी को 31  तक क्रियान्वयन के संबंध में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करनी थी परंतु सरकार ने रोडवेज कर्मचारियों के साथ धोखाधड़ी की। डेढ़ सौ करोड़ के स्थान पर सिर्फ लगभग 48करोड़ 81 लाख रुपए दिए गए नई भर्ती के संदर्भ में कोई फैसला नहीं लिया गया।

कमेटी का गठन 25 अगस्त 2018 को किया गया जिसने आज तक अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत नहीं की है । आंदोलन के तीसरे चरण में आज अर्धनग्न प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया गया। समझौता लागू नहीं होने की स्थिति में 15 ,16 सितंबर 2018 को 24 घंटे के प्रदेशव्यापी धरने दिए जाएंगे ।17 सितंबर लगते ही रात 12:00 बजे से 24 घंटे का पूरे राजस्थान में रोडवेज का चक्का जाम हो जाएगा।प्रदर्शन के दौरान हरि ओम चुघ ,तेजपाल सैनी, ग्यारसा राम जाखड़, होशियार सिंह ,ताराचंद, रामपत नैनावत सुबे सिंह चौधरी, गंगाराम शर्मा ,बाबूलाल गौड़, कालीचरण जोशी ,शंभू दयाल ,संजय चौधरी, जफर इकबाल ,राकेश सैनी, दयावती ,सरोज ,लक्ष्मी ,छोटी, शांति देवी ,राजबाला, बनवारी लाल, नंदू सिंह, सहित सैकड़ों रोडवेज कर्मचारी शामिल थे।