Wednesday : 24-10-18 03:48:13 AM
English Hindi

ट्रंप ने बताई भारत का अमेरिका के साथ व्यापार करार करने की ये वजह

ट्रंप ने बताई भारत का अमेरिका के साथ व्यापार करार करने की ये वजह
Sukhdev Choudhary
Tuesday, October 2, 2018 - 19:03
19

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी प्रोडक्ट्स पर ज्यादा टैक्स रखने के लिए भारत की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि भारत मुझे खुश करने के लिए अमेरिका के साथ ट्रेड डील करना चाहता है। ट्रंप ने कुछ दिनों में दूसरी बार भारत पर कथित रूप से ज्यादा टैक्स रखने का आरोप लगाया है। उन्होंने मेक्सिको और कनाडा के साथ नए ट्रेड डील की घोषणा के लिए व्हाइट हाउस में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में यह आरोप लगाया है।

ट्रम्प बोले, ‘‘व्यापारिक समझौतों के लिए मैंने ब्राजील और bharat जैसे देशों से कभी बात नहीं की। पिछली सरकारों ने टैरिफ के मुद्दे पर मेरी तरह विचार ही नहीं किया, जिसकी वजह से अमेरिका इस दिक्कत का सामना कर रहा है।’’ ट्रम्प ने कहा कि भारत ने हार्ले डेविडसन मोटरसाइकिल पर काफी ज्यादा टैरिफ लगाया है। यह 100% से भी ज्यादा है। ट्रम्प ने कहा कि भारत से रिश्ते काफी अच्छे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात हुई थी। उन्होंने डील को लेकर हमसे बात की, लेकिन हमने कोई चर्चा ही नहीं की।

इसके अलावा ट्रंप ने रिपोर्टरों से कहा कि जब अमेरिकी अधिकारियों ने भारत से पूछा कि वे क्यों अमेरिका के साथ व्यापार समझौता करना चाहते हैं तो उन्होंने कहा कि वे अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को खुश करना चाहते हैं। उल्लेखनीय है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने शनिवार को कहा था कि भारत, अमेरिका के साथ व्यापार समझौता करने का इच्छुक है। वहीं वाइट हाउस के एक सीनियर अधिकारी ने आज कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप प्रशासन भारत के साथ व्यापार समझौता करना चाहते हैं लेकिन अभी इसके बारे में बात करना बहुत जल्दबाजी होगी।

इससे पहले शनिवार को ट्रंप ने कहा था कि भारत चाहता है कि अमेरिका उसके उत्पादों पर ऊंचा शुल्क नहीं लगाए इस वजह से वह हमारे साथ व्यापार करार करना चाहता है। बता दें कि ट्रंप अक्सर भारत पर अमेरिका उत्पादों पर 100 प्रतिशत तक का शुल्क लगाने का आरोप लगाते रहे हैं। ट्रंप ने कहा, 'हमारे पास एक देश है, भारत को ले लीजिए। हमारे उनसे अच्छे संबंध हैं। वह अब हमारे साथ समझौता चाहते हैं, क्योंकि वे नहीं चाहते कि मैं जो कर रहा हूं वैसा करूं. इसलिये वे हमें बुलाते हैं। वे किसी और से साथ कोई समझौता नहीं करना चाहते हैं।'

और पढ़ें

Add new comment