Sunday : 21-10-18 01:33:07 AM
English Hindi

वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा के सरकारी खर्च पर लगा अड़ंगा

वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा के सरकारी खर्च पर लगा अड़ंगा
एस.पी.मित्तल ( वरिष्ठ पत्रकार एवं प्रसिद्द ब्लॉगर )
Thursday, August 9, 2018 - 16:26
186

जयपुर :  इसे हाईकोर्ट का डर ही कहा जाएगा कि राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा के दौरान होने वाली सभाओं में अब पीडब्ल्यूडी को टेंट, मंच, माइक आदि के इंतजाम नहीं करने पड़ेंगे। इससे जनता के करोड़ों रुपए बच जाएंगे। नवम्बर में होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत के लिए वसुंधरा राजे गत चार अगस्त से प्रदेश भर में गौरव यात्रा निकाल रही हैं। इस गौरव यात्रा में होने वाली सभाओं के लिए पीडब्ल्यूडी के चीफ  इंजीनियर सीएल नवल ने एक आदेश जारी कर टेंट, मंच, माइक आदि के इंतजाम करने के निर्देश दिए थे। सरकार के इस आदेश को अधिवक्ता विभूती भूषण शर्मा ने हाईकोर्ट में चुनौती दी।

विभूती भूषण शर्मा ने अपनी याचिका में कहा कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी गौरव यात्रा को राजनीतिक यात्रा बता चुके हैं, इसलिए अब सरकारी खर्चें पर यात्रा के इंतजाम नहीं हो सकते। इस याचिका पर हाईकोर्ट में अभी सुनवाई होनी है, लेकिन इससे पहले ही सात अगस्त को चीफ इंजीनियर नवल ने अपना एक अगस्त वाला आदेश निरस्त कर दिया हैं यानि अब गौरव यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री की सभा में निजी स्तर पर ही पांडाल, माइक आदि के इंतजाम होंगे। 

 

  • पायलट ने भी किया था विरोधः

सरकारी खर्चे पर गौरव यात्रा में टेंट आदि के इंतजाम का विरोध प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने भी किया था। पायलट ने आरोप लगाया था कि यात्रा में सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग हो रहा है। इसी प्रकार सात अगस्त को अजमेर से कांग्रेस के सांसद रघु शर्मा ने भी लोकसभा में गौरव यात्रा का मुद्दा उठाया था। शर्मा ने आरोप लगाया कि गौरव यात्रा सरकारी यात्रा बनकर रह गई है। शर्मा ने भी सरकारी साधनों के दुरुपयोग को रोकने की मांग लोकसभा में की थी। चैतरफा दबाव को देखते हुए ही सरकार को अपना आदेश वापस लेना पड़ा है।

और पढ़ें