किसान आंदोलन का प्रभाव हुआ कम

किसान आंदोलन का प्रभाव हुआ कम
Published Date:
Friday, June 8, 2018 - 11:37

किसानों के 'गांव बंद' आंदोलन के सातवें दिन गुरुवार को जयपुर में दूध को लेकर हालात लगभग पूरी तरह सामान्य हो गए. डेयरी के टैंकरों में हो रही तोड़फोड़ और दूध फैलाने की घटनाएं भी अब काफी कम हो चुकी हैं. जयपुर डेयरी की ओर से गुरुवार को जयपुर शहर में पर्याप्त मात्रा में दूध की सप्लाई की गई. मांग के मुताबिक 8 लाख 30 हजार लीटर दूध की सप्लाई जयपुर डेयरी की ओर से की गई है. वहीं सब्जियों की आपूर्ति भी अब सामान्य होने लग गई है.

इसके साथ ही डेयरी ने 2 लाख 15 हजार लीटर गोल्ड दूध की सप्लाई भी की. किसान आंदोलन के चलते दो दिन तक शहर में गोल्ड दूध की आपूर्ति बंद रहने के बाद बुधवार को केवल 50 हजार लीटर गोल्ड दूध सप्लाई किया गया था. जयपुर डेयरी के पास अब पर्याप्त मात्रा में दूध संकलित हो रहा है. पड़ौसी डेयरियों से दूध मंगवाने की भी जरुरत नहीं पड़ रही है.

हालांकि एहतियात के तौर पर अलवर डेयरी से कुछ दूध जयपुर डेयरी द्वारा मंगवाया गया है. बुधवार को जयपुर डेयरी के पास साढ़े 7 लाख लीटर दूध एकत्रित हुआ था. संकलित दूध ज्यादा फैट का होने के चलते टोंड दूध ज्यादा मात्रा में तैयार कर शहर में पर्याप्त आपूर्ति की जा रही है.

आंदोलन से सर्वाधिक रूप से प्रभावित हुए बीकानेर संभाग में भी किसानों का विरोध धीरे-धीरे शांत होता जा रहा है. वहां भी छिटपुट घटनाओं के अलावा कोई बड़ी घटना नहीं हुई.