सोशल मीडिया पर अफवाह फैली तो एडमिन भी फंस सकते हैं पुलिस शिकंजे में

सोशल मीडिया पर अफवाह फैली तो एडमिन भी फंस सकते हैं पुलिस शिकंजे में
Published Date:
Thursday, June 28, 2018 - 14:39

अहमदाबाद। सोशल मीडिया में चल रही अफवाह आपके ग्रुप में आ जाती है तो एडमिन को उसे तुरंत डिलीट कर अधिक फैलने से रोकना होगा। साथ ही, इस संबंध में पुलिस को सूचित कर अफवाह फैलाने वाले की जानकारी देनी होगी। गुजरात में बच्चा चोर गिरोह की अफवाह के बाद छह शहरों में बिगडी कानून व्यवस्था से परेशान सरकार ने सोशल मीडिया पर वॉच बढ़ाने के साथ उसके यूजर को भी सतर्क रहने को कहा गया है।

गुजरात के गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने बताया कि गुजरात में मंगलवार को बच्चा चोर गिरोह का मैसेज वायरल हुआ, जो अफवाह फैलाने की हरकत थी, पुलिस इस तरह की हरकत करने वालों के खिलाफ सख्ती से पेश आएगी। वाट्सएप एडमिन भी अपने समूह में ऐसा संदेश आए तो तुरंत डिलीट करें तथा अफवाह को फैलने से रोकें, अन्यथा एडमिन भी मुश्किल में फंस सकता है। गंभीर व अराजकता फैलाने वाले संदेश को लेकर पुलिस को भी सूचित किया जाए, ताकि ऐसे लोगों से निपटा जा सके। जाडेजा ने गुजरात की जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि बच्चा चोर गिरोह का संदेश अफवाह था लोग भयभीत ना हो तथा उत्तेजना में नहीं आएं। मंगलवार शाम पुलिस ने इस अफवाह के लिए पाकिस्तानी एडमिन की हरकत बताते हुए राज्य में शांति व्यवस्था बिगाड़ने के लिए किया गया कृत्य बताया था।

वाट्सएप के अलावा फेसबुक व ट्विटर पर ऐसी अफवाह को लेकर भी सरकार ने कहा है कि तुरंत ऐसी सूचना की जानकारी पुलिस को देने के साथ अफवाह को फैलने से रोकने के निर्देश जारी किए हैं। जाडेजा ने राज्य के पुलिस अधिकारियों से भी कहा है कि मीडिया, टीवी चैनल, एफएम, रेडिया व लोकसंपर्क के जरिए लोगों को जागरूक कर सच्चाई से अवगत कराएं। सरकार ने एंटी ह्युमन ट्रेफिकिंग यूनिट, स्पेशल जुवेनाइल पुलिस, चाइल्ड वेलफेयर आॅफिसर, फ्रेंड्स आॅफ पुलिस, फ्रेंड्स आॅफ वुमेन एंड पुलिस तथा चाइल्ड लाइन को भी सतर्क रहने तथा महिला पुरुषों को जागरूक करने के साथ सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाहों को रोकने में मदद करने को कहा है। ( जागरण .कॉम )