आने वाले दिनों में सताएगी गर्मी 

आने वाले दिनों में सताएगी गर्मी 
Published Date:

फरीदाबाद : दिन और रात के तापमान में लगातार हो रही बढ़ोतरी न केवल गर्मी नहीं बढ़ा रहा, बल्कि बीमारियों को भी दावत दे रहा है। गर्मी उल्टी, दस्त और डायरियों के मरीजों की संख्या अस्पतालों में बढ़ गई है। सरकारी और निजी अस्पतालों की ओपीडी में 25 से 30 प्रतिशत मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। इनमें बच्चों की संख्या अधिक है। आने वाले दिनों में गर्मी और ज्यादा सताने बाली है, सोमवार व बुधवार को अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस रहेगी, जबकि मंगलवाल को पारा 40 डिग्री पर पहुंचेगा।

अस्पताल पहुंचने लगे मरीज

गर्मी में पेट की बीमारियां सबसे अधिक होती है जिसका मुख्य कारण दूषित खानपान होता है। डिहाइड्रेशन के मरीज इस मौसम में सबसे अधिक सामने आते हैं। सिविल अस्पताल बीके में पिछले एक सप्ताह में 5 से 7 मरीज डिहाइड्रेशन की शिकायत लेकर इलाज कराने पहुंचे हैं, जबकि ओपीडी में मरीजों की लाइन लगी है। इसके अलावा प्राइवेट अस्पतालों में भी डायरिया व दस्त के मरीजों की संख्या में बढ़ौतरी हुई है। डॉक्टरों का कहना है कि अभी गर्मी ओर बढ़ेगी। दिन और रात के तापमान में 4 से 5 डिग्री का इजाफा हो सकता है। इसलिए सावधानी बरतने की खास जरुरत है।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ

गर्मी के मौसम में शरीर को पानी की अधिक जरूरत होती है। इसलिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए। इस दौरान यह ध्यान रहे की पानी साफ हो। इस मौसम में बैक्टीरिया तेजी से फैलता है। थोड़ी सी लापरवाही संक्रमण का कारण बन सकती है। सड़क किनारे रेहडियों पर खुले में बिकने वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए, क्योंकि खुले में रखें होने के कारण इनसे संक्रमण व फूड प्वाइजनिंग होने का खरता ज्यादा रहता है।

[डॉ अनिल पांडे, डिप्टी डीन, ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज]

- गर्मी के मौसम में शिकंजी, जलजीरा, नींबू पानी, जूस, दही, मठ्ठा फायदेमंद होते है, लेकिन इन्हें लेने से पहले सफाई का विशेष ध्यान रखें। हल्का व सादा खाना खाएं। सिविल अस्पताल बीके के वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डा. वीरेंद्र यादव ने बताया कि डायरिया के तीन,चार मरीज रोज अस्पताल में आने लगे हैं।

[डॉ संजीव कपूर, वरिष्ठ फिजिशियन, क्यूआरजी हॉस्पिटल]

इन बातों का रखें ख्याल

-भीषण गर्मी में प्रतिदिन चार से छह लीटर पानी पीएं।

-नमक व चीनी का घोल लें। नींबू पानी का सेवन भी फायदेमंद है।

-ताजे फलों का सेवन करें।

-हल्के व सूती कपड़े पहनें। पूरी बाजू की कमीज पहनें।

-धूप में न निकलें।

चार दिन यूं रहा तापमान

तारीख        अधिकतम               न्यूनतम

1 अप्रैल        38                      21

31 मार्च        36                      18

30 मार्च        38                      15

29 मार्च        37                      19

तीन दिन का संभावित तापमाप

तारीख        अधिकतम               न्यूनतम

4 अप्रैल        39                      22

3 अप्रैल        40                      24

2 अप्रैल        39                      22