10 को फिर बंद,सोशल मीडिया पर चला मैसेज : सेना अलर्ट

10 को फिर बंद,सोशल मीडिया पर चला मैसेज : सेना अलर्ट
Published Date:

2 अप्रेल को हुए उपद्रव के बाद अब फेसबुक व वॉट्सएप पर 10 अप्रैल को बंद के विरोध में भारत बंद का मैसेज वायरल हो रहा है। जिसमें सवर्ण व ओबीसी वर्ग के शामिल होने की बात कही जा रही है।

इस मैसेज की जानकारी इंटेलीजेंस के जरिए सरकार को भी मिल चुकी है, इसके चलते सेना को अलर्ट पर रहने का फरमान जारी किया गया है। यदि इस बार बंद के दौरान हिंसक घटना होती है तो उस पर सख्ती से अंकुश लगाया जा सके।

एससी-एसटी एक्ट में हुए संशोधन के विरोध में भारत बंद का आह्वान किया गया था। इस दौरान ग्वालियर चंबल संभाग में हिंसक घटनाएं हुई हैं। इसमें संभाग में 8 लोगों की मौत हुई है, जबकि करीब 150 लोग घायल हुए हैं।

इसके बाद अब वॉट्सएप ग्रुप पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें 10 अप्रैल को एक बार फिर होगा भारत बंद ये संदेश दिया जा रहा है। साथ ही आरक्षण हटाने की मांग भी उठाई जा रही है, जबकि फेसबुक पर सवर्ण एवं ओबीसी के द्वारा भारत बंद की अपील की जा रही है।

खास बात ये है कि इन संदेशों को लोगों द्वारा तेजी से फैलाया भी जा रहा है। सूत्रों की मानें तो इंटेलीजेंस के जरिए ये जानकारी सरकार तक भी पहुंच चुकी है, इसलिए सेना को अलर्ट मोड पर रहने के आदेश दिए गए हैं। जिससे की किसी प्रकार की अप्रिय स्थिति निर्मित होने पर तत्काल निपटा जा सके।

सैनिकों को हैडक्वार्टर से मैसेज

सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद सेना ने भी अपनी तैयारी शुरू कर दी है। सैन्य सूत्रों के मुताबिक सभी सेना के जवानों को इस संबंध में अलर्ट मैसेज दिया गया है, जिसमें विशेष रूप से 10 अप्रैल का उल्लेख किया गया है। गौरतलब है कि 14 अप्रैल को डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयंती है, ऐसे में सरकार किसी प्रकार का रिस्क नहीं लेना चाहती है।

14 अप्रैल को चक्काजाम का आह्वान

फेसबुक पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें एससी एसटी वर्ग की तरफ से 14 अप्रैल को चक्काजाम व भारत बंद का आह्वान किया जा रहा है। कुल मिलाकर सोशल मीडिया पर जारी हो रहे ऐसे भड़काऊ संदेश सरकार व प्रशासन के लिए बड़ी परेशानी खड़ी कर सकते हैं।

इनका कहना क्या है

डीजीपी व प्रमुख सचिव के संज्ञान में यह मामला आ चुका है। वरिष्ठ अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंस के दौरान इस पूरे मामले को देखने एवं समाज के लोगों से संवाद करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही 10 अप्रैल को लेकर रणनीति तैयार की जा रही है।

राहुल जैन, कलेक्टर ( ग्वालियर )