बैकफुट पर आई योगी सरकार ,बिजली के निजीकरण का फैसला वापस

बैकफुट पर आई योगी सरकार ,बिजली के निजीकरण का फैसला वापस
Published Date:

लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार ने लखनऊ समेत सात शहरों में एकीकृत बिजली सेवाओं के निजीकरण की योजना को वापस ले लिया है।राज्य के ऊर्जा श्रीकांत शर्मा की अध्यक्षता वाली बैठक में गुरुवार को इस संबंध में औपचारिक रूप से निर्णय लिया गया।
राज्य सरकार ने इस योजना को यूपी पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपीपीसीएल)के कर्मचारियों द्वारा सरकार के खिलाफ उत्तेजित होने के बाद वापस लिया है।ज्ञात हो कि बिजली कर्मचारियों सरकार की इस योजना के विरोध में पिछले 15 दिनों से आंदोलन कर रहे थे।
यूपीपीसीएल के कर्मचारियों की सरकार से मांग थी कि बिजली क्षेत्र में निजीकरण करने संबंधी कोई भी कदम उनके साथ परामर्श के बाद ही लिया जाए।
प्रदेश के सात शहरों में एकीकृत बिजली सेवाओं के निजीकरण की योजना को वापस लेने के सरकार के इस निर्णय के बाद मुरादाबाद में बिजली विभाग के कर्मचारियों ने बम-पटाखे चलाकर अपनी खुशी का इजहार किया।