बेखौफ दरिंदों के आगे बेबस झारखंड, डरा रहे यहां के हालात

बेखौफ दरिंदों के आगे बेबस झारखंड, डरा रहे यहां के हालात
Published Date:

रांची। झारखंड में दरिंदगी चरम पर है। नाबालिग लड़कियां हैवानियत का शिकार बन रही हैं। सामूहिक दुष्कर्म के बाद उन्हें बड़ी निर्ममता से मौत के घाट उतार दिया जा रहा है। आए दिन ऐसे वीभत्स मामले सामने आने से आमजन में भय और आक्रोश का माहौल है। लोग सड़कों पर उतर आए हैं।

बेकाबू होते हालात

झारखंड में दरिंदगी का जो विकराल चेहरा सामने आ रहा है, वह रूह कंपा देने वाला है। बेटियों के साथ हैवानों ने न सिर्फ दुष्कर्म किया बल्कि उन्हें निर्दयता पूर्वक मार डाला। कहीं पत्थर से कुचल दिया, कहीं जला कर मार दिया तो कहीं दुष्कर्म के बाद हाथ-पैर बांधकर मरने के लिए ट्रेन की पटरी पर फेंक दिया। सफेदपोश और पुलिस वाले भी इस कुकृत्य में लिप्त बताए गए। राज्य सरकार का कहना है कि उसने बेटियों की सुरक्षा के लिए कई उपाय किए हैं, लेकिन हालात इसके ठीक उलट हैं।

हर दिन तीन वीभत्स घटनाएं

गृह विभाग के आंकड़ों के अनुसार, प्रत्येक माह राज्य में एक सौ बेटियां दुष्कर्म का शिकार हो रही हैं। निर्दयता पूर्वक मार दी गईं ज्यादातर बेटियों के मामले अनसुलझे हैं। पुलिस हत्यारों को ढूंढ तक नहीं पाई। लोगों में आक्रोश है। सड़कों पर प्रदर्शन शुरू हो गए हैं

रूह कंपा देने वाली घटनाएं

दुष्कर्म के बाद पत्थर से सिर कूचा: रांची के रातू में इंटर की 17 साल की छात्रा से दुष्कर्म किया गया। इसके बाद उसका गला घोंटकर और पत्थर से कूचकर हत्या कर दी गई। विरोध में ग्रामीणों ने जोरदार प्रदर्शन किया। हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की। पुलिस को हत्यारों को सुराग नहीं मिला है।

दुष्कर्म के बाद हाथ-पांव बांध किशोरी को रेल ट्रैक पर फेंका: बोकारो में एक किशोरी के साथ दो अज्ञात युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म के बाद रस्सी से हाथ-पांव बांधकर रेल ट्रैक पर मरने के लिए फेंक दिया। ट्रेन चालक ने उसे देख लिया और किसी तरह उसकी जान बची। आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर। पीड़िता सदमे में है।

दुष्कर्म के बाद जला कर मार डाला: पाकुड़ में दुष्कर्म के बाद एक 22 वर्षीय युवती को जला कर मार दिया गया। झाडिय़ों से पुलिस ने उसकी अधजली लाश बरामद की। हत्यारों का कोई सुराग नहीं ढूंढ पाई है पुलिस। इसी तरह रांची की अफसाना को लोहरदगा में जलाकर मार दिया गया। शव इतनी बुरी तरह जला है कि पुलिस को सुराग तक नहीं मिल पा रहे। लोग हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए सड़क पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

वर्दी पर दाग, सफेदपोशों ने भी किया नाबालिग से दुष्कर्म

जमशेदपुर में एक नाबालिग युवती से कुछ लोगों ने दुष्कर्म किया, वीडियो बनाकर ब्लैकमेल किया। उससे वेश्यावृत्ति कराई। सफेदपोशों के यहां नाबालिग को भेजा। थाने में पुलिस से शिकायत करने पर युवती से दरोगा ने मुंह काला किया। डीएसपी ने भी अप्राकृतिक यौनाचार किया। दोनों को लाइन हाजिर कर मामले की जांच की जा रही है। मामले की जांच सिटी एसपी कर रहे हैं, एसआइटी जांच मुनासिब नहीं समझी गई।

गृह विभाग का कहना है कि प्रारंभिक जांच रिपोर्ट आने के बाद जरूरत हुई तो एसआइटी का भी गठन किया जाएगा। वहीं इस संबंध में पीड़िता की मां का कहना है कि पुलिस सहित कई हाई प्रोफाइल लोगों ने उसकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया है। पुलिस की जांच पर उसे भरोसा नहीं। इस मामले की सीबीआइ जांच के लिए झारखंड हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है।

जानिये किसने क्या कहा

महिलाओं और बच्चियों के प्रति जैसी घटनाएं घट रही हैं वह काफी शर्मनाक है। जितनी घटनाएं इस राज्य में हो रही हैं उससे यह साबित होता है कि पुलिस अपना काम सही तरीके से नहीं कर रही।

-कल्याणी शरण, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष।

महिलाओं के खिलाफ नृशंसता के जितने मामले सामने आ रहे हैं उस पर पुलिस गंभीर है। पुलिस को आदेश दिया गया है कि प्राथमिकता के आधार पर इन मामलों का सुलझाए।

-आशीष बत्रा, पुलिस प्रवक्ता सह आइजी ऑपरेशन, झारखंड पुलिस।