गुरमीत राम रहीम से जुड़े मामले में कोर्ट ने एसआईटी गठित करने के निर्देश दिए

गुरमीत राम रहीम से जुड़े मामले में कोर्ट ने एसआईटी गठित करने के निर्देश दिए
Published Date:

जयपुर : गुरमीत राम रहीम के सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा से गायब हुई जयपुर की एक महिला के मामले की जांच एसआईटी करेगी। राजस्थान हाईकोर्ट ने पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित करने के निर्देश दिए है।

जस्टिस के.एस. अहलुवालिया ने गायब महिला गुड्डी के पति कमलेश कुमार की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह निर्देश दिए। अदलात ने इस मामले में पुलिस की जांच पर नाराजगी जताई और कहा कि इस मामले में एसआईटी गठित कर जांच कराई जाए। पुलिस को जांच रिपोर्ट 7 मई तक कोर्ट में जमा करानी है। उल्लेखनीय है कि कमलेश कुमार और उसकी पत्नी गुड्डी देवी 24 मार्च 2015 में सिरसा स्थित राम रहीम के आश्रम में सत्संग में शामिल होने गए थे। इसके अगले दिन 25 मार्च को वे सत्संग में बैठे थे तो एक सेवादार उनके पास आया और बोला की गुड्डी को डेरे के एमडी डीपीएस दत्ता बुला रहे हैं ।

गुड्डी सेवादार के साथ चली गई और इसके बाद से उसका कोई पता नहीं चला। पति कमलेश कुमार ने डेरे के सेवादारों से उसके बारे में जानना चाहा तो उसे यह कह कर जयपुर भेज दिया की उसकी पत्नी स्वयं ही जयपुर आ जाएगी,अभी वह राम रहीम की भक्ति में लीन है। इसके बाद से कमलेश कुमार को गुड्डी देवी के बारे में कोई जानकारी नहीं है। दिसम्बर,2015 में कमलेश कुमार ने जयपुर के जवाहर नगर पुलिस थाने में शिकायत की तो उस पर ध्यान नहीं दिया गया। अंतत:वर्ष 2017 के अंत में कोर्ट में याचिका दायर कर कमलेश कुमार ने अपनी पत्नी की तलाशी के लिए पुलिस को निर्देश देने का आग्रह किया।