ई- वे बिल वीकेंड पर लागू होने से नहीं हुई कोई परेशानी 

ई- वे बिल वीकेंड पर लागू होने से नहीं हुई कोई परेशानी 
Published Date:

फरीदाबाद : 1 अप्रैल से हुए वित्तीय बदलावों के साथ जीएसटी की ई-वे बिल प्रणाली का देशभर में लागू कर दी गई है। वीकेंड और वित वर्ष की समाप्ती की वजह से फिलहाल ई-वे बिल सिस्टम में कोई नकारात्म प्रभाव देखने को नहीं मिला है। उद्यमियों की माने तो ई-वे कि अगनी परीक्षा सोमवार को पहले वर्किंग डे पर देखने को मिलेगी। दूसरी बार लागू हो रहा है यह सिस्टम आखिर कितना सफल रहेगा।

इंडस्ट्रियल सिटी फरीदाबाद में करीब 35 हजार डीलर है जो ई-वे बिल सिस्टम में रजिस्टर्ड है। रविवार की छुट्टी होने के कारण अधिकांश कंपनियां बंद रही है। जिसके चलते 15 से 20 प्रतिशत उद्यमियों ने ई- वे बिल का यूज किया। वहीं वित वर्ष की समाप्ती होने के कारण कुछ डीलरों ने अभी अपने माल की सप्लाई रोकी भी हुई है। इससे ई-वे बिल की वेब-साईट पर कोई खास फर्क नहीं पड़ा। जबकि पिछले बार वर्किंग डे में ई-वे बिल लागू होने से एकाएक ई-वे बिल की साइट पर लोड पड़ने से साइट क्रेस हो गई थी। एक अप्रैल से लागू हुए ई-वे बिल को लेकर अभी तक शहर में ई-वे जनरेट करने में किसी तरह की कोई दिक्कत और परेशानी देखने को नहीं मिली। आईएमएसएमई ऑफ इंडिया के प्रेजिडेंट राजीव चावला ने कहा कि वीकेंड के कारण ई-वे बिल सिस्टम में कोई नकारात्मक प्रभाव देखने को नहीं मिला। सोमवार को मार्केट खुलने के बाद सिस्टम की सही स्थिति की जानकारी मिलेगी। आखिर कितना सफल रहेगा। इसी तरह लघु उद्योग भारती के प्रेजिडेंट रवि भूषण खत्री ने कहा कि पहले ई-वे बिल काे जनरेट करने में कोई परेशान देखने को नहीं मिली है। सोमवार को इसका असर देखने को मिलेगा। हालांकि इस बार ई-वे बिल सिस्टम में किए गए सुधार से इसके सफल होने के चांस है। ई-वे बिल प्रणाली को 50,000 रुपये से अधिक के सामान को सड़क, रेल, वायु या जलमार्ग से एक राज्य से दूसरे राज्य में ले जाने पर लागू किया गया है।