जयपुर : ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट मामला .... 18 मार्च को बरखेडा मोड़, शिवदासपूरा में विशाल आन्दोलन सभा

जयपुर : ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट मामला .... 18 मार्च को बरखेडा मोड़, शिवदासपूरा में विशाल आन्दोलन सभा
Published Date:

जयपुर। राज्य सरकार की प्रस्तावित चाकसू के शिवदासपुरा - पदमपुरा स्थित अघोषित ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट योजना को लेकर प्रभवित ग्रामीण वासियों, किसानो और व्यापारियों सहित विश्व विख्यात दिगम्बर जैन मंदिर अतिशय क्षेत्र बाड़ा पदमपुरा, बरखेडा श्वेताम्बर जैन मंदिर, पद्म नेत्र हॉस्पिटल ने रविवार को संयुक्त बैठक कर 18 मार्च को सरकार की प्रस्तावित ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट योजना के खिलाफ विशाल आन्दोलन सभा करने का निर्णय किया है, पूर्व में प्रस्तवित सोमवार 5 मार्च को मुख्यमंत्री आवास घेराव को परमिशन ना मिलने के चलते निरस्त कर दिया गया है. 18 मार्च की सभा कल्याण धर्म काँटा, बरखेडा मोड़, टोंक रोड़ स्थित शिवदासपूरा में की जाएगी.

मीडिया प्रभारी अभिषेक जैन बिट्टू ने बताया कि रविवार को प्रात : 11 बजे से अतिशय क्षेत्र बाड़ा पदमपुरा दिगम्बर जैन मंदिर में ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट हटाओ आन्दोलन समिति से जुड़े सभी 20 गाँवो के प्रतिनिधि, पदमपुरा दिगम्बर जैन मंदिर समिति, बरखेडा श्वेताम्बर जैन मंदिर समिति, पदम नेत्र ज्योति हॉस्पिटल समिति, हरी मंदिर समिति सहित द्रव्यनदी संघर्ष समिति सहीत नींदड गाँव के किसानो ने बैठक में भाग लिया, बैठक में ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट को लेकर और प्रस्तवित 5 मार्च के मुख्यमंत्री आवास घेराव के कार्यक्रम पर चर्चा की गई. जिसमे उपस्थित सभी पदाधिकारियों और प्रतिनिधियों ने चर्चा में ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट हटाओ किसानो और गाँवो की बचाओ का प्रस्ताव पारित किया, इसके लिए हर संभव संघर्ष करने का संकल्प लिया, इसके साथ ही यह भी निर्णय लिया गया की पूर्व में प्रस्तावित 5 मार्च के मुख्यमंत्री आवास घेराव की प्रसाशन परमिशन नही दे रहा है जिसकी बैठक में निंदा की गई और जब तक ग्रामीण वासियों को न्याय नही मिलता आन्दोलन जारी रहेगा, इस आन्दोलन को गति देने के लिए 18 मार्च का दिन निर्धारित किया गया है, जिसमे इस दिन ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट हटाने की मांग को लेकर 20 गाँवो के किसान, व्यापारी, ग्रामीण वासी और प्रभावित लोग हजारो लोगो सम्मिलित होंगे.
 
संयुक्त संघर्ष समिति अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह रानावत ने कहा की सरकार और प्रशासन लगातार झूठे आश्वासन दे रहा है, इनके झूठे आश्वासन के चलते 20 ग्रामो के लोगो का जीवन प्रभावित हो रहा है, इस योजना के चलते न किसान खेती कर पा रहा है न व्यापारी अपना व्यवसाय कर पा रहा है, जिससे ग्रामीण वासियों को अपनी रोजी – रोटी से हाथ धोना पड़ रहा है, न जाने कितने परिवारों को भूखे – प्यासे दिन – रात गुजारनी पड़ रही है. जो बहुत ही निंदनीय है राज्य सरकार का क्या यही कर्तव्य है की झूठे विकास का सपना दिखा लोगो की जमीन हड़पने का काम करना ही विकास है. लोगो को भूखे – प्यासे रखना, उनका सुख चेन छिनना ही राज्य सरकार का विकास है. यह केवल निजी स्वार्थ और गाँवो की जमीन हडपने की साजिश है, जिसका सभी प्रभावित 20 किसान पुरजोर विरोध करते है. यही नही इस योजना से लाखो लोगो की आस्था के साथ भी खिलवाड़ किया जा रहा है और धार्मिक स्थल जो विश्व में विख्यात है उन तक को केवल एक एयरपोर्ट योजना के नाम पर उजाड़ कर लाखो – करोड़ो लोगो की आस्था के साथ खिलवाड़ कर रही है, इस योजन से प्रभावित दिगम्बर जैन मंदिर बाड़ा पदमपुरा, बरखेडा श्वेताम्बर जैन मंदीर, दलित समाज का हरी मंदिर है जिसमे प्रतिदिन हजारो की संख्या में श्रद्धालु देशभर से आते है और पूजा – अर्चना करते है लेकिन सरकार की हठकर्मिता और सत्ता के अहंकार के चलते इन क्षेत्रों तक को निशाना बनाया जा रहा है.
 
बरखेडा श्वेताम्बर जैन मंदिर समिति मंत्री राकेश मुनोत ने कहा की प्रस्तवित ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट योजना से इंसान तो इंसान बेजुबान पशु – पक्षियों तक को निशाना बनाया जा रहा है योजना में प्रभावित क्षेत्र बरखेड़ा और चंदलाई प्रदेश का एकमात्र ऐसा स्थान है जहाँ 250 से ज्यादा पक्षी एकत्रित होते है, शहर के नजदीक एक मात्र ऐसा स्थान है जहाँ बड़ी संख्या में पक्षी प्रेमी यहाँ जुटते है और पक्षियों को निहारते है साथ ही बरखेडा में श्वेताम्बर जैन मंदिर भी है जो पूरी तरह से इस योजन में सम्मिलित है जिससे हजारो लोगो को आस्थाओ पर सीधे सीधे प्रहार है.  

अतिशय क्षेत्र बाड़ा पदमपुरा उपाध्यक्ष सुरेन्द्र पांड्या ने बताया कि रविवार को आयोजित बैठक में ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट योजन को लेकर सभी उपस्थित प्रतिनिधियों और पदाधिकारियों ने राज्य सरकार के प्रति आक्रोश देखने को मिला और सभी ने एक सुर में राज्य सरकार की इस योजना के खिलाफ संघर्ष जारी रखने का संकल्प लिया, साथ ही यह भी कहा की जब तक सरकार इस योजना को वापस नही लेती तब तक चेन से नही बेठगे,  आयोजित बैठक में प्रभावित 20 गांवों के किसान, ग्रामीण, व्यापारी सहित बाड़ा पदमपुरा दिगम्बर जैन मंदिर समिति, बरखेड़ा जैन मंदिर समिति, दलित समाज के हरी मंदिर समिति, पदम् नेत्र ज्योति हॉस्पिटल समिति सहित सभी 20 गाँवो के प्रतिनिधियों ने भाग लिया और 18 मार्च को शिवदासपूरा में होनी वाली आन्दोलन सभा में बड़ी संख्या में सम्मिलित होने का संकल्प लिया. बैठक में हिराभाई चौधरी अध्यक्ष, राकेश मुणोत मंत्री, बरखेड़ा, अशोक मेहता संयोजक द्रववती संघर्ष समिति सहित संयुक्त संघष समिति से जुड़े सभी पदाधिकारीयो ने भी बैठक में भाग लिया ।