कोकजे बोले- VHP का एजेंडा नहीं बदला, तोगड़िया से बातचीत जारी

कोकजे बोले- VHP का एजेंडा नहीं बदला, तोगड़िया से बातचीत जारी
Published Date:

विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के नवनिर्वाचित अंतराष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु सदाशिवम् कोकजे ने नई जिम्मेदारी मिलने के बाद अपना काम शुरू कर दिया है. उन्होंने कहा है कि विहिप अपने एजेंडे पर कायम है.

विष्णु सदाशिव कोकजे ने राम मंदिर पर कहा कि अयोध्या में भव्य मंदिर शीघ्र बनेगा. कोकजे ने कहा कि संतों की अगुवाई में भगवान राम का भव्य मंदिर शीघ्र ही न्यायालय के आदेश या कानून बनाकर शीघ्र किया जाएगा और उन्हें पूरा विश्वास है कि वह अपने दायित्व को निभाने में पूरी तरह से कामयाब रहेंगे.

विहिप के एजेंडे पर कायम ◆

कोकजे ने रविवार को दिल्ली में कहा कि विश्व हिंदू परिषद अपने अस्तित्व में आने से लेकर आज तक समाज के बीच सौहार्द बनाने का काम कर रही है. विश्व हिंदू परिषद के नए अध्यक्ष का कहना है कि पूरे देश में भारतीय मूल के धर्मों को एक करके हम हिंदू संस्कृति का समर्थन कर सकते हैं. हमारा लक्ष्य है भव्य राम मंदिर निर्माण, गौ रक्षा और हिंदू समाज का एकीकरण है.

कोकजे का कहना है कि साल 1964 में विश्व हिंदू परिषद की स्थापना के साथ से अब तक लगातार हिंदू हितों के लिए कार्य किया जा रहा है.

कोकजे ने कहा कि संगठन का आधार हमेशा एक जैसा रहा है और रहेगा, चाहे अध्यक्ष पद पर कोई भी आसीन हो. राम मंदिर और विहिप के दूसरे मुद्दों पर उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि विश्व हिंदू परिषद का एजेंडा हमेशा एक ही रहेगा, चाहे कोई भी अध्यक्ष बने.

वहीं, केंद्रीय महामंत्री मिलिंद पराण्डे ने कहा कि पूरी दुनिया में हिंदू समाज एकात्म है और हमेशा रहेगा. उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म के शत्रु अपनी मुंह की खाएंगे और हिंदू आगे बढ़ता जाएगा.

◆ तोगड़िया पर क्या बोले कोकजे ◆

विहिप के पूर्व अंतराष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ प्रवीण तोगड़िया की नाराजगी पर कोकजे ने कहा कि हम लगातार उनके संपर्क में हैं. हम तोगड़िया जी से बातचीत कर रहे हैं और ये बात बिल्कुल निराधार है कि हम दोनों के बीच किसी बात को लेकर कोई खींचतान नहीं है.

बता दें कि 52 साल में पहली बार 14 अप्रैल को हरियाणा के गुरुग्राम में विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर चुनाव कराए गए. इस चुनाव में प्रवीण तोगड़िया गुट के राघव रेड्डी और आरएसएस समर्थक माने जाने वाले विष्णु सदाशिव् कोकजे के बीच चुनाव हुआ, जिसमें तोगड़िया के उम्मीदवार की परास्त हुई है.

चुनाव हारने के बाद तोगड़िया ने आरोप लगाया कि मतदान में गड़बड़ी की गई और सत्ता का दुरुपयोग किया गया. साथ ही उन्होंने राम मंदिर जैसे दूसरे मुद्दों पर 17 अप्रैल से अहमदाबाद में अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठने का ऐलान किया है. बता दें कि पिछले काफी वक्त से तोगड़िया सार्वजनिक तौर पर मोदी सरकार और बीजेपी पर हिंदुओं की मांग पूरी न करने के आरोप लगा रहे हैं और राम मंदिर जैसे मुद्दों पर यूटर्न लेने का भी आरोप लगा रहे हैं.