सीबीआई की एक अदालत ने रोटोमैक पेन कंपनी के घपलेबाज मालिक विक्रम कोठारी और उसके बेटे राहुल को एक दिन के ट्रांजिट रिमांड पर भेजा

सीबीआई की एक अदालत ने रोटोमैक पेन कंपनी के घपलेबाज मालिक विक्रम कोठारी और उसके बेटे राहुल को एक दिन के ट्रांजिट रिमांड पर भेजा
Published Date:

नई दिल्ली:
सीबीआई की एक अदालत ने रोटोमैक पेन कंपनी के घपलेबाज मालिक विक्रम कोठारी और उसके बेटे राहुल को एक दिन के ट्रांजिट रिमांड पर भेज दिया, जबकि आयकर विभाग ने समूह के 12 बैंक खाते जब्त कर लिए और कोठारी के खिलाफ छह अभियोजन जारी कर दिए। पटियाला हाउस अदालत में अतिरिक्त मुख्य महानगर दंडाधिकारी, समर विशाल ने 3,695 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के मामले में दोनों पिता-पुत्र को एक दिन के रिमांड पर दे दिया। सीबीआई ने हालांकि दोनों को लखनऊ लेकर जाने के लिए दो दिनों की ट्रांजिट रिमांड मांगी थी।

दोनों को शनिवार को लखनऊ में संबंधित अदालत में पेश किया जाएगा। कोठारी और उसके बेटे को कथित तौर पर ऋण का भुगतान न करने के लिए गुरुवार को सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया था। इसके पहले सीबीआई दोनों ने लगातार चार दिनों तक पूछताछ की थी।

बचाव पक्ष के वकील प्रमोद कुमार दूबे ने अदालत के अधिकार क्षेत्र पर आपत्ति खड़ी की और कहा कि आरोपी को किसी सत्र न्यायालय में पेश किया जाना चाहिए, न कि किसी दंडाधिकारी की अदालत में। अदालत ने उसके बाद क्षेत्राधिकार के मुद्दे पर अपराह्न् दो बजे तक के लिए अपना आदेश सुरक्षित कर लिया।
इस बीच, आयकर विभाग के अधिकारियों ने कहा कि रोटोमैक के पूर्व जब्त किए गए 14 बैंक खातों के अतिरिक्त कंपनी के अन्य 12 से अधिक बैंक खाते भी जब्त किए गए हैं, और कोठारी के खिलाफ छह अभियोजन मंजूर किए गए हैं।

कोठारी, उसकी पत्नी साधना और पुत्र राहुल के खिलाफ बैंक ऑफ बड़ौदा से शिकायत मिलने के बाद सीबीआई ने रविवार रात एक प्राथमिकी दर्ज की थी। कोठारी रोटोमैक का अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक है, जबकि उसकी पत्नी और पुत्र निदेशक हैं।