ये हैं भारत सरकार की 10 मोबाइल एप्स, जानें इनके फायदे

ये हैं भारत सरकार की 10 मोबाइल एप्स, जानें इनके फायदे
Published Date:

भारत सरकार पिछले कुछ सालों से डिजिटल इंडिया को बढ़ावा दे रही है। डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देने में स्मार्टफोन एप्स का बड़ा हाथ है। भारत सरकार ने भी एप्स की महत्ता को समझ कर डिजिटल पेमेंट, पासपोर्ट सेवा आदि के लिए कई एप्स लॉन्च की हैं। हम आपको कुछ ऐसी ही 10 एप्स की जानकारी देने जा रहे हैं जो भारतीय नागरिकों के लिए बड़े काम की हो सकती हैं।

स्वच्छ भारत अभियान

यह एप आपके शहर और आस-पास के क्षेत्र को साफ रखने से सम्बंधित है। इस एप के जरिए लोग पिक्चर्स क्लिक कर के पोस्ट कर सकते हैं। नागरिकों से जुड़े मुद्दों पर पिक्चर पोस्ट कर के उससे जुडी नगरपालिका को भेजी जा सकती हैं। इस एप से सभी शहरी स्थानीय निकायों को लिंक किया गया है। इससे आपको कहां शिकायत करनी है, इसका सही पता चल जाता है। इसके अंतर्गत शिकायत का हल ना निकलने पर फीडबैक भी दिया जा सकता है।

उमंग एप

केंद्र, राज्य सरकारों और नगर निगम के अधीन काम करने वाले तमाम विभागों से जुड़े कामों को बहुत ही आसान बनाने वाली यह एप वाकई आपके तमाम काम आसान बना देगी। यूनिफाइड मोबाइल एप्लीकेशन फॉर न्यू ऐज गवर्नेंस यानि (UMANG) एप को प्लेास्टोर से डाउनलोड कीजिए और केंद्र, राज्य और नगर प्रशासन से जुड़े तमाम विभागों 100 से ज्यादा काम घर बैठे अपने मोबाइल फोन से निपटा दीजिए। यूं तो उमंग एप श्रम मंत्रालय द्वारा जारी की गई है, लेकिन इसके द्वारा आप पैन और आधार नंबर का यूज करके तमाम सरकारी सेवाओं का इस्तेमाल घर बैठे कर सकते हैं। नौकरी पेशा लोग उमंग एप द्वारा अपने पीएफ खाते से पैसा भी निकाल सकते हैं। कुल मिलाकर एक सरकारी एप आपके कई काम आसान बना देगी।

एम पासपोर्ट (mPassport)

इस एप के जरिए स्मार्टफोन यूजर्स को पासपोर्ट से सम्बंधित जैसे की- एप्लीकेशन स्टेटस ट्रैकिंग, पासपोर्ट सेवा, केंद्र की लोकेशन समेत आम जानकारी मिलती है।

एम आधार एप (mAadhaar)

UIDAI की mAadhaar एप फिलहाल एंड्रॉयड यूजर्स के लिए उपलब्ध है। इस एप के जरिए लोग अपना आधार कार्ड अपने फोन में ही लेकर चल सकते हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है की mAadhar एप के जरिए यूजर्स किसी भी सेवा प्रदाता से अपनी eKYC जानकारी शेयर कर सकते हैं। यूजर्स अपनी आधार प्रोफाइल QR कोड के जरिए भी शेयर कर सकते हैं। UIDAI का दावा है की इस एप से यूजर्स कभी भी कहीं भी अपने बायोमेट्रिक डाटा को ब्लॉक कर सकते हैं।

पोस्टइन्फो

पोस्टइन्फो पोस्ट डिपार्टमेंट की एप है। इस एप में पार्सल ट्रैकिंग, पोस्टेज कैलक्युलेटर, इन्शुरेन्स प्रीमियम कैलक्युलेटर और इंटरेस्ट कैलक्युलेटर आदि फीचर्स मिलते हैं। पोस्टल डिपार्टमेंट कई तरह की जीवन बीमा पॉलिसी भी ऑफर करता है।

माय गवर्नमंट (MyGov)

यह एप नागरिकों के लिए सरकार में भागीदारी करने के एक प्लेटफार्म के रूप में काम करती है। इसमें यूजर्स अपनी राय, कमैंट्स आदि दे सकते हैं। इसमें यूजर्स नीति तैयार करने और कार्यक्रम कार्यान्वयन में भी हिस्सा ले सकते हैं।

माय स्पीड( MySpeed) (TRAI)

यह एप यूजर्स को उनकी डाटा स्पीड मापने का विकल्प देती है और ट्राई को रिजल्ट भेजती है। यह एप्लीकेशन डिवाइस और टेस्ट की लोकेशन की डाटा स्पीड और नेटवर्क से जुडी अन्य जानकारी ले लेती है। एप यूजर की निजी जानकारी का इस्तेमाल नहीं करती। सारा डाटा गुमनाम भेजा जाता है। इसमें नेटवर्क सही ना होने पर यूजर के पास शिकायत करने का विकल्प भी मौजूद होता है।

एम कवच (mKavach) (Mobile security solutions)

यह एप सिर्फ एंड्रॉयड डिवाइसेज के लिए उपलब्ध है। इस एप का काम मोबाइल फोन्स से सम्बंधित खतरों को सुलझाना है। उदाहरण के लिए- यूजर इसमें स्पैम एसएमएस को ब्लॉक कर सकते हैं। इस एप के जरिए निजी जानकारी चुराने वाले मालवेयर से भी बचा जा सकता है।

भीम एप

भारत इंटरफेस फॉर मनी यानि BHIM एप मनी ट्रांसफर से लेकर हर तरह की पेमेंट करने वाला एक ऐसी एप है, जिससे अपने बैंक खाते को जोड़कर आप कहीं भी बैठकर किसी भी व्यक्ति या कंपनी को पेमेंट कर सकते हैं। भीप एप NPCI यानि नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा चलाया जाता है। भीम एप UPI यानि Unified Payments Interface सिस्टम पर काम करता है और इसका डाटा किसी विदेशी सर्वर पर नहीं बल्कि देश में ही पूरी तरह से सुरक्षित रहता है। भीम एप द्वारा आप पेटीएम की तरह क्यूरआर कोड को स्कैन कर शॉपिंग मॉल में सीधे अपने बैंक अकाउंट से पेमेंट कर सकते हैं।

आयकर सेतु

यह एप इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के कई सेवाओं से लिंक है। इसके कुछ यूजफुल फीचर्स में ऑनलाइन टैक्स भरना, पैन के लिए अप्लाई करना और टैक्स कैलक्युलेटर आदि शामिल है। इसमें चैटबॉट भी मौजूद है, जो करदाताओं के सवालों का जवाब देता है।