सलमान खान की हत्या की फिराक में था नेहरा!!!

सलमान खान की हत्या की फिराक में था नेहरा!!!
Published Date:
Sunday, June 10, 2018 - 11:34

गुरूग्राम फिल्म अभिनेता सलमान खान की हत्या की साजिश का खुलासा गुरुग्राम एसटीएफ की टीम ने किया है। दरअसल गुरुग्राम की एसटीएफ की टीम ने हैदराबाद से गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के गुर्गे संपत नेहरा को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की थी। संपत नेहरा पर दो दर्जन से ज्यादा हत्या, हत्या के प्रयास और फिरौती मांगने के मामले हरियाणा सहित कई राज्यों दर्ज हैं। गिरफ्तारी के बाद जब संपत नेहरा से एसटीएफ की टीम ने पूछताछ शुरु की तो संपत ने होश उड़ा देने वाले खुलासे किए, उसने कबूला की वो फिल्म अभिनेता सलमान खान की हत्या की साजिश रच रहा था।

सलमान खान के घर की रैकी भी की

एसटीएफ टीम के मुताबिक संपत नेहरा ने कबूला की वो सलमान खान की हत्या के लिए दो दिन तक उसके घर की रैकी भी कर चुका है। साजिश किसी भी तरह से नाकामयाब ना हो इसके लिए बाकायदा सलमान के घर के आस-पास की टोह लेने के साथ सलमान के आने-जाने के समय और सिक्योरिटी की जानकारी भी जुटा रहा था।

फैन मीट के दौरान हमले की थी तैयारी

संपत नेहरा मई के पहले सप्ताह में सलमान के घऱ की रैकी करने के लिए गया था। संपत नेहरा फैन बनकर उस वक्त सलमान की हत्या की ताक में था जब सलमान अपने घर की बालकनी पर खड़े होकर अपने फैन से रुबरु होते हैं। इतना ही नहीं फैन्स और सलमान के बीच कितना फासला है और इस फासले में किस हथियार से गोली दागी जा सकती है इसकी भी जानकारी संपत नेहरा ने जुटाई थी, लेकिन संपत नेहरा अपने इस मनसूबे में कामयाब हो पाता उस से पहले ही एसटीएफ की टीम ने उसे हैदराबाद में धरदबोचा।

लॉरेंस बिश्नोई की धमकी से जोड़ी जा रही साजिश

एसटीएफ डीआईजी सतीश बालन ने बताया कि सलमान खान की हत्या की साजिश लॉरेंस बिश्नोई की उस धमकी से जोड़ कर देखी जा रही है, जब गैंगस्टर बिश्नोई ने सलमान खान को काला हिरण के शिकार के मामले में जान से मरवाने की बात कही थी। फिलहाल संपत नेहरा की गिरफ्तारी से सलमान खान की हत्या की साजिश तो ना कामयाब हो गई है, लेकिन इस साजिश में संपत नेहरा के मददगार कौन थे उनकी जानकारी और तलाश में अब एसटीएफ की टीम लगी हुई है। संपत नेहरा से आगे की पूछताछ में कई और बड़े खुलासे होने की भी उम्मीद है।

लॉरेंस बिश्नोई के संपर्क में इस तरह आया संपत

एसटीएफ को संपत नेहरा से जो जानकारी मिली उसके मुताबिक लॉरेंस बिश्नोई जेल से बैठ कर ही इस पूरी साजिश को रच रहा था। जिसके लिए संपत नेहरा को ये जिम्मेदारी दी गई थी। संपत नेहरा की दोस्ती लॉरेंस बिश्नोई से जेल में ही हुई थी जिसके बाद संपत बिश्नोई गैंग से जुड़ा। संपत नेहरा पढ़ाई के दौरान चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में लॉरेंस बिश्नोई के संपर्क में छात्र राजनीति के दौरान आया था। 2016  मे संपत कार चोरी के मामले में गिरफ्तार हुआ और बाद में बिश्नोई गैंग में शामिल हो गया। संपत नेहरा के उपर इनेलो के पूर्व विधायक के भाई की हत्या के प्रयास का मामला भी दर्ज है। इतना ही नहीं हरियाणा, राजस्थान और पंजाब पुलिस ने दो लाख रुपए का इनाम भी इस सुपारी किलर पर घोषित किया हुआ था। अब देखना ये होगा की संपत नेहरा की गिरफ्तारी के बाद और कौन-कौन से बड़े खुलासे होते हैं।